प्रोएक्टिव कैसे बनें? (How to be Proactive Person?)

प्रोएक्टिव कैसे बनें ? (How to be Proactive Person?) – आज के समय में बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो प्रोएक्टिव नहीं है। प्रोएक्टिव व्यक्ति दुनिया में हर वह चीज हासिल कर सकता है जिसको हासिल करने की उसकी काबिलियत है। आज के समय में बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो अपने असफलता का दोष किसी दूसरे को दे देते हैं जबकि इसका कोई फायदा नहीं मिलता है। लेकिन एक प्रोएक्टिव व्यक्ति अपनी असफलता की जिम्मेदारी खुद लेता है। प्रोएक्टिव व्यक्ति अपने जीवन में होने वाले सभी सकारात्मक और नकारात्मक घटनाओं की जिम्मेदारी खुद लेता है और वह अपने निर्णय भी खुद करता है। किस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि प्रोएक्टिव कैसे बनें? (How to be Proactive Person?)

प्रोएक्टिव कैसे बनें? (How to be Proactive Person?)

आज के समय में प्रोएक्टिव व्यक्ति बहुत ही कम है इसीलिए सफल लोगों की संख्या भी बहुत कम है। एक प्रोएक्टिव व्यक्ति जीवन में हमेशा सफलता की सीढ़ी चढ़ता है क्योंकि वह किसी भी काम की जिम्मेदारी खुद लेता है और साथ ही साथ किसी भी काम को शुरू करने या बंद करने का निर्णय भी स्वयं लेता है। एक प्रोएक्टिव व्यक्ति हमेशा सही निर्णय लेने के बाद सही एक्शन भी लेता है।

How to be Proactive Person

प्रोएक्टिव व्यक्ति कौन है?

आज के समय में बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो दूसरों के प्रभाव में आकर अपना निर्णय बदल देते हैं और दूसरों को देख कर अपना काम शुरू करते हैं। ऐसे लोग जल्दी सफलता नहीं प्राप्त कर पाते और निराश हो जाते हैं। प्रोएक्टिव व्यक्ति किसी के दबाव में आकर या किसी के प्रभाव में आकर कभी भी अपने निर्णय को नहीं बदलता और जो भी चीज उसके वश में नहीं है उसके बारे में कभी नहीं सोचता।

प्रोएक्टिव व्यक्ति असफलता के बाद भी सकारात्मक सोच के साथ अपने कार्य में लगा रहता है और एक न एक दिन सफलता प्राप्त करके ही मानता है। जीवन में हमेशा उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। हर दिन एक जैसा नहीं होता है क्योंकि दिन के बाद रात अवश्य आता है। एक प्रोएक्टिव व्यक्ति ही जीवन की तमाम कठिनाइयों से लड़ते हुए आगे और अपने मेहनत एवं अपने सकारात्मक सोच के साथ सफलता प्राप्त करता है।

प्रोएक्टिव व्यक्ति का माइंडसेट कैसा होता है?

यदि आपका माइंड सेट नीचे बताए गए बिंदुओं से मेल खाता है तो आप एक प्रोएक्टिव व्यक्ति हैं।

  1. एक प्रोएक्टिव व्यक्ति अपने जीवन के प्रत्येक कार्य घटना और परिणाम कि खुद जिम्मेदारी लेता है। यदि उसे किसी काम में असफलता मिल जाए तो वह उस असफलता का दोष किसी भी व्यक्ति वस्तु या घटना को नहीं देता है।
  2. एक प्रोएक्टिव व्यक्ति हमेशा यह सोचता है कि कोई भी अच्छा अवसर खुद चलकर किसी के पास नहीं आता है बल्कि उसे उस अच्छे अवसर को खोजते हुए उसके पास जाना है।
  3. एक प्रोएक्टिव व्यक्ति कभी भी किसी ऐसी घटना को लेकर चिंतित नहीं होता है जो उसके वश में नहीं है। यदि आपको भी प्रोएक्टिव व्यक्ति बनना है तो आपको कभी भी उन चीजों के बारे में या उन घटना के बारे में नहीं सोचना चाहिए जो आपके वश में नहीं है।
  4. बहुत सारे लोग ऐसा सोचते हैं कि जब उनकी परिस्थितियां सही होंगी तब वे काम शुरू करेंगे। एक प्रोएक्टिव व्यक्ति ऐसा कभी नहीं सोचता है वह तुरंत ही उस कार्य के प्रति खुद जिम्मेदारी उठाता है और काम करने की शुरुआत करता है।
  5. एक प्रोएक्टिव व्यक्ति कभी भी उस काम को नहीं करता है जो उसके वश में नहीं है बल्कि वह वही काम करता है जो उसके वश में हो और एक इंसान द्वारा किया जा सके।
  6. एक प्रोएक्टिव व्यक्ति कभी भी ऐसी घटनाओं से विचलित नहीं होता है जो उसके वश में नहीं है। जैसे आप कभी भी मौसम को नहीं बदल सकते हैं, शेयर मार्केट के गिरते प्राइस को नहीं रोक सकते हैं, तो आपको इनके बारे में अधिक सोचना भी नहीं चाहिए।
प्रोएक्टिव कैसे बनें?
  1. यदि आप प्रोएक्टिव बनना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अपने आदतों में सुधार लाना जरूरी है और किसी दूसरे के प्रभाव में आकर अपने फैसले को बदलना बंद करना होगा।
  2. आपकी जो भी समस्याएं हैं उन्हें एक जगह नोट कर के रख लें और बारी-बारी से उन समस्याओं को सुलझाने का प्रयास करें।
  3. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि समस्या और कार्य दो अलग-अलग चीजें हैं। इसीलिए कार्य और समस्या की अलग-अलग सूची बनाएं और अपने कार्यों को करने के साथ-साथ समस्याओं को भी सुलझाने का प्रयास करें।
  4. यदि आप एक प्रोएक्टिव व्यक्ति बनना चाहते हैं तो आपको सभी समस्याओं का समाधान खुद से ढूंढना पड़ेगा और सभी कार्यों के प्रति खुद से जिम्मेदारी लेनी होगी। इसके अलावा किसी भी कार्य में मिली सफलता एवं असफलता की जिम्मेदारी भी खुद को लेनी होगी।
  5. आज के समय में बहुत सारे लोग ऐसा करते हैं कि अपनी असफलता का दोष किसी दूसरे के सिर मढ़ देते हैं यदि आप ऐसा करते हैं तो कभी भी प्रोएक्टिव नहीं बन सकते।
  6. एक प्रोएक्टिव व्यक्ति टाइम मैनेजमेंट पर भी विशेष ध्यान देता है इसीलिए आपको भी किसी भी काम को करने की टाइम और उसे समाप्त करने का टाइम फिक्स कर लेना चाहिए। तभी आप प्रोएक्टिव व्यक्ति बन सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *